अपने खिलाफ बातों को,
अक्सर मैं ख़ामोशी से सुनता हूँ...
क्यूंकि, जवाब देने का हक़,
मैंने वक़्त को दे रखा है..!!

Hindi Blog by Nimesh Shukla : 708
New bites

The best sellers write on Matrubharti, do you?

Start Writing Now