एक तरफा इश्क का भी अपना मजा है।
कभी धोखे की गुंजाईश ही नहि होती।

-Rupesh Sutariya

Hindi Romance by Rupesh Sutariya : 111919818

The best sellers write on Matrubharti, do you?

Start Writing Now