कुछ शर्म, हया, हाय ये अदाएं,
कुछ तो खयाल कर मेरा,
ये तेरी अदाओसे कत्ल करेगी क्या,
हम कमजोर दिल के है।
- स्पंदन

Hindi Romance by વૈભવકુમાર ઉમેશચંદ્ર ઓઝા : 111919135

The best sellers write on Matrubharti, do you?

Start Writing Now