*सुख और दुःख तो जीवन में अतिथि जैसे है*
*बारी बारी आयेंगे और चले जायेंगे*

*यदि ये दोनों नहीं आयेंगे तो*
*हम अनुभव कहाँ से लायेंगे*.....!!

Gujarati Quotes by Mehul Chauhan : 605
New bites

The best sellers write on Matrubharti, do you?

Start Writing Now